लॉकडाउन के कारण जगह-जगह फंसे दिल्लीवासियों को, वापस लाने में जुटी दिल्ली सरकार।

लॉकडाउन के कारण जगह-जगह फंसे दिल्लीवासियों को, वापस लाने में जुटी दिल्ली सरकार।


और इसकी शुरुआत होगी कोटा में फंसे हुए स्टूडेंट्स को वापस लाने से। दिल्ली सरकार ने स्टूडेंट्स को वापस लाने के लिए, सोशल डिस्टेनसिंग के मानकों को ध्यान में रखते हुए प्राइवेट बस ऑपरेटर्स से, बात करके लक्ज़री बसें बुक की हैं।
क्योंकि DTC की सभी बसें CNG की है, जिनमें सोशल डिस्टेंनसिंग मुश्किल थी, इसलिए सरकार ने लक्ज़री प्राइवेट बसें कोटा भेजने की तैयारी की है।


लगभग 800 से 1000 स्टूडेंट्स वहाँ फंसे हुए हैं, जिन्हें वापस लाने के लिए 35 से 40 बसें भेजने की जरूरत होगी।


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
आगरा सेंट्रल जेल के बाद अब जिला कारागार की चारदीवारी में भी पहुंचा कोरोना संक्रमण। 
ठेका लेकर पास कराते थे सीटीईटी परीक्षा,
शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास का बयान हमारे पास कोई इत्तेला नही आयी और शहर में होर्डिंग्स लगाये जा रहे है