कोरोना कहाँ पैदा हुआ? 

कोरोना कहाँ पैदा हुआ? 
जवाब: चीन में.


कोरोना दुनियाभरमें कैसे फैल गया? 
जवाब: मुल्कों के बीच सफर करने से


मुल्कों के बीच सफर कैसे होता है?
जवाब: हवाई जहाज़ से.


जहाज़ कहाँ उतारते है?
जवाब: एअरपोर्ट पे.


मतलब कोरोना देश में कहाँ से घुसl?
जवाब: एयरपोर्ट से.


हमारे देश में कितने इंटरनेशनल एयरपोर्ट है?
जवाब: 20 से ज़्यादा


ये सारे एयरपोर्ट्स किसकी निगरानी में है?
जवाब: केंद्र सरकार के.


अब है बड़ा सवाल....


20 एयरपोर्ट लॉक डाउन करना आसान था या सारा देश?
जवाब: एयरपोर्ट


चीन में कोरोना के कहर की खबर दुनियाभर में पहली बार कब फैली?
जवाब: जनवरी में. 


तब ही हमारा देश सचेत हो जाता तो आज 130 करोड़ लोगो को लॉक डाउन करने की नौबत ही ना आती. पप्पू समझा जानेवाला राहुल गांधी भी फेब्रुअरी से मोदी जी को कोरोना के खिलाफ सचेत कर कड़े कदम उठाने की चेतावनी दे रहा था. मगर तब साहब जी ट्रम्प के आलीशान स्वागत की और मध्य प्रदेश में सरकार बनाने की तैयारी कर रहे थे. फेब्रुअरी से ही अगर प्रधान जी विदेशो से आनेवाले हर भारतीय को लॉक डाउन में रखते और विदेशी लोगो के आने पे तुरंत बैन लगा देते तो आज सारा देश खुले में चैन की सांस लेता. जितनी बेरोज़गारी बढ़ी, काम धंधे बंद हुए, मजदूर और गरीबों पर आफत और संकट आया, और देश का आर्थिक नुकसान हुआ.....ये सब नl होता. ताइवान ने ऐसा ही किया, देश को बिना लॉक डाउन किये. उनके यहाँ अब तक सिर्फ 429 पेशेंट्स. पिछले 1 हफ्ते से एक भी नया केस नहीं. ये होता है काम.


हमारे यहाँ तो सब अंधे है, समझता किसीको कुछ नहीं इसलिए प्रधान के हर फैसले पे सारा देश बैल की तरह सर हिलाता है. ग़लत को ग़लत भी कहने की किसी की हिम्मत नहीं रही, हर फैसले की बस तारीफ करो. नोटेबंदी से लेकर आजतक हर बेवकुफ भरे फैसले की तारीफ ही की गई. देश की दुर्दशा के लिए फैसला लेनेवाले, उसकी तारीफ करनेवाले, और उसका समर्थन करनेवाले सभी ज़िम्मेदार है. देशभक्त के रूप में छिपे हुए देश के दुश्मन. भावना की पुकार संवाददाता


Popular posts
सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड ने बनाया ट्रस्ट ज़ुफर फारूकी होंगे ट्रस्ट के अध्यक्ष
नोएडा के SSP वैभव कृष्ण सस्पेंड किए गए
CBSE और ICSE पैटर्न पर होगी मदरसों की शिक्षा व्यवस्था -
मंगलवार को जिला अस्पताल के सफाई सुपरवाइजर में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है वहीं कोरोना संक्रमित का इलाज करने वाले न्यूट्रिमा हाॅस्पिटल के सीनियर डाॅक्टर विश्वजीत बेंबी को क्वारंटीन कर दिया गया है
आगरा प्रशासन की लापरवाही एक बार फिर आयी सामने डी एम आगरा द्वारा किये गए सभी वादे झूठे हो रहे साबित अग्रवन में क़वारन्टीन किये गए 41 लोग बैठे धरने पर खाना पानी लेने से भी किया इनकार