5 मई से शुरू होगा कॉपियों का मूल्यांकन,

 



5 मई से शुरू होगा कॉपियों का मूल्यांकन,


लाक डाउन के चलते हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य कर दिया गया था स्थगित,


25 मई तक कॉपियों का मूल्यांकन कर लिया जाएगा पूरा,


मूल्यांकन पूरे होने में सोशल डिस्टेंसिंग का भी होगा पालन,


मूल्यांकन केंद्रों के 100 मीटर के दायरे में धारा 144 रहेगी लागू,


मूल्यांकन केंद्रों में कोई बाहरी व्यक्ति नहीं करेगा प्रवेश,


छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए यूपी बोर्ड ने लिया फैसला,


यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने दी जानकारी।


 


 


"यूपी अपडेट !!!


पश्चिमी उत्तर-प्रदेश फंसा रेड एवं ऑरेंज जोन के चक्रव्यूह में*



 यूपी के 19 जिले रेड जोन में, 35 ऑरेंज और 20 ग्रीन जोन में शामिल!!


केंद्र सरकार की ओर से जारी लिस्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश के 19 जिले रेड जोन में है। ऑरेंज जोन में 35 जिले और ग्रीन जोन में 21 जिले हैं।


रेड जोन के जिले आगरा, लखनऊ, सहारनपुर, कानपुर नगर, मुरादाबाद ,फिरोजाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, मेरठ, रायबरेली, वाराणसी, बिजनौर, अमरोहा, संत कबीर नगर, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, रामपुर, मथुरा, बरेली।


ऑरेंज जोन:-* गाजियाबाद, हापुड़, बदायूं, बागपत, बस्ती ,शामली, औरैया, सीतापुर, बहराइच, कन्नौज, आजमगढ़, मैनपुरी, श्रावस्ती, बांदा, जौनपुर, एटा, कासगंज, सुल्तानपुर, प्रयागराज, जालौन, मिर्जापुर, इटावा, प्रतापगढ़, गाजीपुर, गोंडा, मऊ, भदोही, उन्नाव, पीलीभीत, बलरामपुर, अयोध्या, गोरखपुर, झांसी, हरदोई, कौशांबी।


ग्रीन जोन बाराबंकी, लखीमपुर खीरी, हाथरस, महाराजगंज, शाहजहांपुर, अंबेडकर नगर, बलिया, चंदौली, चित्रकूट, देवरिया, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, हमीरपुर, कानपुर देहात, कुशीनगर, ललितपुर, महोबा, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र, अमेठी !!


Popular posts
<no title>
Image
मेरठ डॉक्टर अमिताभ गौतम भी निकले संक्रमित दिल्ली मैक्स में रात को हुये भर्ती  मेरठ में लगातार बढ़ रहे है कोरोना पोजेटिव मरीजो की संख्या आज 26केस आने से प्रशासन में हड़कंप  कोरोना पोजेटिव की संख्या बढ़ कर हुई 312
जल्द दौड़ेगी दिल्ली मेट्रो 
Image
उत्तर प्रदेश मे आज 147 नये केस आये कुल संख्या बढ़ कर 3902 हुई, आज 107 लोग ठीक हुए कुल 2072 ठीक हुए, दो लोगो की मौत हुई अभी तक 88 लोग मर चुके है कोरोना से l
लॉकडाउन 4 -  फॉरकंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जोन में एक राज्य से दूसरे राज्यों में आपसी सहमति से बसें जा पाएंगी।  रेड और ऑरेंज जोन के अंदर कंटेनमेंट और बफर जोन बनाए जाएंगे।जिलाधिकारी तय कर सकेंगे।