क्या 4 मई के बाद चल जाएगी ट्रेन? रेल मंत्रालय ने बनाया ये सॉलिड प्लान

क्या 4 मई के बाद चल जाएगी ट्रेन? रेल मंत्रालय ने बनाया ये सॉलिड प्लान
  


भारतीय रेल ने 3 मई तक अपनी सारी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है। लेकिन 4 मई के लिए भी रिजर्वेशन नहीं किए जा रहे हैं। ऐसा इसलिए ताकि लोग ये अंदाजा ना लगाए कि 4 मई से ट्रेनें चलने लगेंगी। रेलवे लॉकडाउन के बाद जब भी ट्रेनें चलाएगा तो वो केंद्र ही हरी झंडी के बाद चलाएगा। जब तक केंद्र की तरफ से कोई फैसला नहीं आ जाता तब तक रेलवे इस बारे में कोई बयान नहीं देगा। इसलिए रेलवे में भी अलग अलग ज़ोन और डिवीज़न के अधिकारी कई तरह की संभावनाओं पर विचार कर रहे हैं।


1. ट्रेन जब चलना शुरू हो जाएगी तो कुछ स्पेशल ट्रेनें पहले चलाई जाएगी। इन स्पेशल ट्रेनों का किराया भी शायद ज्यादा होगा क्योकिं ट्रेन में भीड़ भाड़ नहीं रखी जाएगी और ट्रेनें आधी खाली रहेगी। इस दौरान वो पहले यात्रा कर पाएंगे जिनके लिए यात्रा ज्यादा जरूरी है।


2. रेलवे ने 19 मार्च से ही स्टूडेंट्स, दिव्यांगों और मेडिकल ग्राउंड पर टिकटों पर मिलने वाले कंसेशन के अलावा सभी छूट पर रोक लगाई हुई है। इसका मकसद था कि ट्रेनों में भीड़ कम रहे और दूसरा वरिष्ठ नागरिकों को ट्रेन में यात्रा करने से रोकना है।


3. रेलवे शुरू में केवल स्लीपर क्लास के कोच वाली ट्रेन चलाए। इस से भीड़ भाड़ से बचा जा सकता है और केवल उन्ही को यात्रा करने का मौका दिया जाए जिनके पास कंफर्म टिकट हो।


4. शुरू में ट्रेनें केवल चुनिंदा स्टेशनों के बीच चलाई जाएं और जिन इलाकों में कोरोना के मामले अधिक हैं वहां पर अभी ट्रेनें ना चलाई जाएं। रेलवे के सामने सबसे बड़ी चुनौती अपने लाखों कर्मचारियों और मुसाफिरों को सुरक्षित रखने की है इसलिए रेलवे कोई भी निर्णय बेहद सोच समझ कर लेने वाला है।


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
आगरा सेंट्रल जेल के बाद अब जिला कारागार की चारदीवारी में भी पहुंचा कोरोना संक्रमण। 
ठेका लेकर पास कराते थे सीटीईटी परीक्षा,
शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास का बयान हमारे पास कोई इत्तेला नही आयी और शहर में होर्डिंग्स लगाये जा रहे है