ना ख़बराएँ यश बैंक के ग्राहक, भारतीय बैंकिंग ढांचा है बहुत मजबूत अमेठी के यश बैंक के ग्राहक ना करें फिक्र, पैसा है सुरक्षित

ना ख़बराएँ यश बैंक के ग्राहक, भारतीय बैंकिंग ढांचा है बहुत मजबूत



अमेठी के यश बैंक के ग्राहक ना करें फिक्र, पैसा है सुरक्षित


            अमेठी। वर्तमान में यश बैंक नकदी व  तरलता के संकट से गुजर रहा है जिसे फाइनेंस के तकनीकी शब्दों में कैश क्रंच (cash crunch) अथवा लिक्विडिटी ट्रैप (liquidity trap) कहते हैं।  
                ग्राहकों में स्थिति तब और संदेहास्पद हो गई जब रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया (RBI) ने इस बैंक से प्रत्येक महीने में निकासी की अधिकतम सीमा 50 हजार  रुपये तय कर दिया। 
                      वास्तव मे, बैंक विश्वास पर चलता है और यही बैंक की सबसे बडी पूंजी है। अगर एक ही समय मे किसी भी बैंक के सभी जमाकर्ता अपना पैसा बैंक से निकालने पहुँच जाएं तो बैंक नहीं दे पाएगा। क्योंकि जमा धन से ही CRR, SLR काटकर बैंक वह पैसा लोन के रूप में बांटता है और स्प्रेड से आय अर्जित करता है।
                 भारत की वित्तीय प्रणाली विश्व में सबसे उत्तम है। इसीलिए आजाद भारत मे कोई बैंक फेल नहीं हुआ। 
                  रिजर्व बैंक आफ इंडिया के मॉनिटरिंग और भरोसे का ही परिणाम है कि स्टेट बैंक ने 49 प्रतिशत यस बैंक में निवेश करने का फैंसला किया है। जैसे ही स्टेट बैंक 2450 करोड़ के शेयर खरीदेगा नकदी की समस्या सुलझ जाएगी।
                      अमेठी जनपद में जो भी यश बैंक के ग्राहक हैं उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि यश बैंक में उनका पैसा सुरक्षित है क्योंकि रिजर्व बैंक की साख पीछे से विश्वास रूपी  सपोर्ट लगाए हुए है। बस ग्रहकों को थोड़ा सा धैर्य रखने की जरूरत है।


 


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
<no title>
Image
<no title>
Image