कोरोना वायरस आकार में बड़ा होता है जहाँ कोशिका का व्यास 400-500 माइक्रो होता है और इसी कारण से कोई भी मास्क इसके प्रवेश को रोकता है

 


 कोरोना वायरस आकार में बड़ा होता है जहाँ कोशिका का व्यास 400-500 माइक्रो होता है और इसी कारण से कोई भी मास्क इसके प्रवेश को रोकता है


 वायरस हवा में नहीं बसता है बल्कि जमीन पर टिका होता है, इसलिए यह हवा से नहीं फैलता है।


 कोरोनावायरस जब यह एक धातु की सतह पर गिरता है, तो यह 12 घंटे तक जीवित रहेगा, इसलिए साबुन और पानी से हाथ धोना पर्याप्त होगा।


 कोरोना वायरस जब कपड़े पर पड़ता है तो वह 9 घंटे तक रहता है, इसलिए कपड़े धोने या दो घंटे के लिए सूरज के संपर्क में रहने से इसे मारने का उद्देश्य पूरा हो जाता है।


 वायरस हाथों पर 10 मिनट तक रहता है, इसलिए जेब में अल्कोहल स्टरलाइज़र डालना रोकथाम के उद्देश्य को पूरा करता है।


 यदि वायरस 26-27 डिग्री सेल्सियस के तापमान के संपर्क में है, तो इसे मार दिया जाएगा, क्योंकि यह गर्म क्षेत्रों में नहीं रहता है। साथ ही गर्म पानी और धूप में पानी पीने से भी यह ट्रिक काम करेगी
 और आइसक्रीम से दूर रहें और ठंडा खाना महत्वपूर्ण है।


 गर्म और नमक के पानी से गरारे करने से टॉन्सिल के कीटाणु मर जाते हैं और उन्हें फेफड़ों में जाने से रोकता है।


 इन निर्देशों का पालन वायरस को रोकने के उद्देश्य को पूरा करता है।
 


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
<no title>
Image
<no title>
Image