जनता कर्फ्यू यानि क्या ❓

❓जनता कर्फ्यू यानि क्या ❓


 



7 बजे सुबह से रात 9 बजे 
"जनता कर्फ्यू" का मतलब "CORONA VIRUS"  को  आगे बढ़ने से रोकना (और हमें इसमें सहभागी होकर राष्ट्र की सुरक्षा अभियान को सफल  करना )


❌इससे कोरोना वायरस मरेगा❌


 यदि कोई जीव इस वायरस के सम्पर्क में  9 घण्टे तक नही आएगा तो यह स्वयं ही मर जाएगा।
"LOCKDOWN FOR CORONA VIRUS"
not for us !


 


अब जरा आगे समझे ..


जब वायरस को आगे बढ़ने का मौका नहीं मिलेगा तो उसकी "LIFE CYCLE"  का खात्मा निश्चित है,
परन्तु इसका पूरा अध्याय समाप्त करना हमारे हाथ में है।
  
कैसे ?... जरा जानें..
शाम 5 बजे जब 130 करोड़ नागरिक एक साथ 
5 मिनट के लिए 
"तालियां  ढोल नगाड़े ,थाली कटोरा,घंटी बजाएंगे या एक ऐसी "SOUND FREQUENCY " पैदा करेंगे जिससे "CORONA VIRUS"  की मौत निश्चित है ।
यह विज्ञान  भी मानता है,
और हमारे शास्त्रों में इसका उल्लेख भी है ।
इस virus को मारने का  यही एकमात्र उपाय है ।
हम भारतीय  पूरे विश्व के लिए  एक मिसाल बन सकते हैं ।


बस ,
अब हम भारतीयों को अपने परिवार,अपने रिश्तेदार, अपने बच्चों, अपने करीबी दोस्तों , अपने समाज को बचाने के लिए अपना कर्तव्य, अपना फ़र्ज़ निभाना होगा । और शाम 5 बजे किसी भी हाल में "sound frequency" को पैदा करना है।  यही एकमात्र विकल्प है ।


आज हमें एक भारतीय सैनिक की तरह अपनी लड़ाई "corona virus" 
से करने का मौका मिला है , आइए, साथ मिलकर इस पर जीत हासिल करें 
और 
गर्व से कहें 


जय हिन्द!!


स्वयं को बचाएं
राष्ट्र को बचाएं
संसार को बचाएं


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
प्राइवेट स्कूल में कक्षा 9 की छात्रा ने मनचलों से परेशान होकर फांसी लगा ली
Image
महाराष्ट्र कोरोना संकट के कुप्रबंधन का डरावना उदाहरण है। 2334 मरीज सामने आ चुके हैं। 160 की मौत हो गई। मुंबई भारत का सबसे डरावना शहर बन गया है। सामने आए 1757 संक्रमितों में 111 जान गंवा चुके हैं।
लखनऊ चौक इलाके में दिनदहाड़े गोली मार हत्याकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग! 24 घंटे में खुलासा होने का दावा काबीना मंत्री बृजेश पाठक और लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने मृतक के परिजनों और व्यापारी संगठन को दिया था आश्वासन! रुपये से भरा बैग छीनने के दौरान हत्या करने बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग ! 10 दिन बीत जाने के बाद भी लखनऊ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की हाईटेक क्राइम टीम के हाथ अब तक खाली..... 24 घंटे के अंदर बदमाशों को पकड़ने का जिम्मेवारों ने किया दावा हुआ फेल....... व्यापार संगठन एक दिन प्रदर्शन करने के बाद बैठा शांत,गुलदस्ता भेंट के बाद व्हाट्सएप ग्रुप पर अपडेट करने दौर हुआ शुरू बीते 20 फरवरी को चौक रकाबगंज इलाके में बाइक सवार चार बदमाशों ने दिया था रुपये से भरा बैग लूट के बाद हत्या को दिया था अंजाम.. जेल में बन्द बदमाशों को सीसीटीवी में दिखे बदमाशों की फ़ोटो से कराई गई पहचान, एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों से की जा चुकी हैं पूछताछ कमला पसंद एजेंसी में दिनदहाड़े बदमाशों का हमला कर लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने सुभाष नाम के कर्मचारी को मारी थी गोली, सरकार द्वारा पूरे मामले का संज्ञान लेने के बाद भी लखनऊ पुलिस के हाथ अब तक खाली.......!
सदर कैंट के पास ट्रेन से कटकर हुई युवक और युवती की मौत
Image