शाहीन बाग में 2 महीने से जारी है विरोध प्रदर्शनमतगणना के दिन शाहीन बाग में मौन प्रदर्शन

शाहीन बाग में 2 महीने से जारी है विरोध


प्रदर्शनमतगणना के दिन शाहीन बाग में मौन प्रदर्शन


दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों 2020 में आम आदमी पार्टी (AAP) को बहुमत से राजधानी के कई हिस्सों में जश्न का माहौल है, लेकिन नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का विरोध कर रहे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी शांत हैं वोटिंग डे की तरह काउंटिंग डे पर भी प्रदर्शन स्थल पर शांतिपूर्ण धरना जारी है शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी आज यानी 11 फरवरी को मुंह पर काली पट्टी बांधकर प्रदर्शनस्थल पर साइलेंट बैठे हैं प्रदर्शनकारियों के हाथों में जो तख्ती और पोस्टर हैं, उनपर लिखा है- दिल्ली पुलिस की बर्बरता के खिलाफ मौन प्रदर्शन
प्रदर्शनकारियों का कहना है कि सोमवार को जामिया और तुगलकाबाद में दिल्ली पुलिस के बल प्रयोग के खिलाफ वे आज पूरे दिन मौन प्रदर्शन कर रहे हैं माइक और स्पीकर यानी स्टेज से किसी भी प्रकार के कार्यक्रम का संचालन नहीं किया जाएगा प्रदर्शनकारी अत्याचार के खिलाफ शांतिपूर्ण तरीके से अपना विरोध कर रहे हैं. वे मुंह पर काली पट्टी बांधे हुए हैं उनका कहना है कि हम शांत हैं लेकिन कमजोर नहीं हैं


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
<no title>
Image
गिरफ्तार DSP से मेडल वापस लिया जाएगा, शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल वापस लिया जाएगा, आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुआ था देविंदर सिंह,
<no title>
Image