बाबाओं_राजनीतिक

बाबाओं_राजनीतिक
---------
"" बाबाओ_राजनीतिक और  से छुटकारा पाना बड़ा मुश्किल है यानी बहुत कठिन है आज के स्वार्थी मतलबी दुनियां में!
सवाल इनसे छुटकारे का नही है !! 
सवाल_तो_तुम्हारे अज्ञान के मिटने का है ?!
जबतक तुम अज्ञानी हो बेअक्ल हो तुम्हें कोई ना कोई लुटता रहेगा !
बाबा _राजनेता ,पंडित-पुरोहित , मुल्ला-मौलवी अपने ज्ञान का डर भय क्रोध दिखाकर तुम्हें लूटते रहेगें क्योंकि तुम अज्ञानी हो बेअक्ल हो अगर ज्ञान होता अकल होता तो डरते ही क्यो !?!
मरना_जीना सुख दुख सब रब के हाथ है एक शक्ति जिसे हम ईश्वर अल्लाह गॉड कहते है !
*तुम्हारे_पूर्वज_बुज़ुर्ग जो करते आरहे है जो कहते आरहे उसी को तुम भी ईश्वर अल्लाह गॉड कहते हो !!*
उस_का_न कोई रंगरूप है न सूरत है न ही किसी ने कभी देखा है !
उसे_अपनाने वाले उस के रास्ते पर चलने वाले ने एक नाम दिया "धर्म मज़हब" का !?
अपने_पूर्वजों बुज़ुर्गों के बताए धर्म-जाति को छोड़कर अपने मन माफ़िक धर्म-जाति बना लिए !!
*आज_अनलिमिटेड धर्म-जाति बन गए !*
क्या_ईश्वर अल्लाह गॉड ने बनाये है किसने बनाया हमने-आपने !!
*जैसे IAS,IPS,IFS,BSC,BCOM,BA, MBBS,MD engineer advocate और राष्ट्रपति, प्रधानमंत्रीये_सब_किसने बनाया हमने आपने !!
पहले_सिर्फ़ एक ही धर्म मज़हब religion था
 जिसे #इंसानियत_मानवता कहते थे !
दो_जाति होती थी "स्त्री-औरत८, पुरुष-मर्द" !!
जब_तक तुम जागरूक नही होंगे तबतक लूटोगे ही !
*आपस_मे कटोंगे-मरोगे ही !?!*
फिर_किसने_लुटा किस झण्डे की आड़ में लुटे, क्या फ़र्क पड़ता !!
लेकिन_मैं_चाहता हूं की तुम ज्ञानी अकल के पुजारी बनो खुद अपने बलबूते खड़ा रहना सिखो !
 अंधविश्वास के अन्धकार से निकलकर  खुले आकाश में उड़ना सिखों !
मैं_तुम्हें हिन्दू ,मुस्लिम, सिख,ईसाई,जैन,बौद्ध etc.. .नही बनाना चाहता !!
मैं_तुम्हें_पूरा आकाश आसमान के नीचे का कुछ भाग-हिस्सा देना चाहता हूं !!
 मैं_तुम्हें एक संसार दुनिया के एक अलग रंग रूप देना चाहता हूं !
 धर्म_जाति, लोगों के बहकावे मतभेदों से कोसों दूर जहाँ कोई भेदभाव नही सिर्फ़ और सिर्फ़ इंसानियत मानवता हो !
आज_भी नफ़रत फैलाने वालों पर !
प्यार_मोहब्बत के पुजारी बहुत भाड़ी है !!


भूलचूक_माफ़ी


 


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
फिर पलटेगा मौसम, बारिश , ओलावृष्टि की संभावनाएं चेतन ठठेरा
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
कोरोना संक्रमित की बढ़ती संख्या को देखते हुये निजी अस्पतालों में भी मरीजो का इलाज होगा 17 ऐसे निजी अस्पतालों के चयन कर लिया गया है
अरविंद केजरीवाल की ताजपोशी लगातार तीसरी बार संभाली दिल्ली की कमान