सहारनपुर में पूर्व एमएलसी उमर अली खान की मां की 41 बीघा जमीन को सरकारी संपत्ति किया घोषित

सहारनपुर में पूर्व एमएलसी उमर अली खान की मां की 41 बीघा जमीन को सरकारी संपत्ति किया घोषित


समाजवादी पार्टी के पूर्व एमएलसी उमर अली खान की मां की 41 बीघा जमीन योगी सरकार ने सरकारी संपत्ति घोषित कर दी यह फैसला सहारनपुर के अपर जिलाधिकारी विनोद कुमार की कोर्ट के आदेश के बाद लिया गया है। दिल्ली के जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद बुखारी के दामाद और समाजवादी पार्टी के पूर्व एमएलसी उमर अली खान को मंगलवार को बड़ा झटका लगा है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने खान की मां के नाम दर्ज 41 बीघा जमीन को सरकारी जमीन घोषित कर दिया है। तकरीबन 22 साल चली कानूनी लड़ाई के बाद अब यह जमीन यूपी सरकार के नाम हो गई है
यह फैसला सहारनपुर के अपर जिलाधिकारी विनोद कुमार की कोर्ट के आदेश के बाद लिया गया है। बताया जाता है कि पूर्व एमएलसी उमर अली की मां बिस्मिल्ला खान एक जमीदार परिवार से हैं। उनकी सदर तहसील के अन्तर्गत गांव बरथा कायस्थ में जमीन है। 17 जनवरी 1997 को तत्कालीन लेखपाल राजेन्द्र प्रसाद ने यह रिपोर्ट दी थी कि बिस्मिल्ला बेगम के पास अधिकतम जोत सीमा आरोपण अधिनियम, 1960 की धारा 10(2) के अन्तर्गत निर्धारित सीमा से अधिक जमीन है साल 1997 में जारी किया गया था नोटिस इसके बाद नियमानुसार 5 मई 1997 को खान को नोटिस जारी किया गया था।
इसके बाद ही यह मामला अपर जिलाधिकारी की अदालत में आया। यहां से प्रभावित पक्ष मामले को लेकर हाईकोर्ट जा पहुंचा। हालांकि, हाईकोर्ट ने सुनवाई के बाद पैरवी के अभाव मे उनकी याचिका निरस्त कर दी थी। इसके बाद यह मामला फिर से अपर जिलाधिकारी की अदालत में आ गया और लंबी सुनवाई और बहस के बाद पूर्व एमएलसी उमर अली की मां की 41 बीघा भूमि को सरकार के पक्ष में करने का आदेश दिया। इस फैसले के बाद यूपी की सियासत में हलचल तेज हो गई है।
*क्या है सीलिंग एक्ट*
जमींदारी प्रथा के उन्मूलन के बाद 1961 में अधिकतम जोत सीमा आरोपण अधिनियम 1960 लागू किया गया। यह कानून बनने के बाद एक परिवार को 15 एकड़ से ज्यादा सिंचित भूमि रखने का अधिकार नहीं है। असिंचित भूमि के मामले में यह रकबा 18 एकड़ तक बढ़ सकता है।


Popular posts
बिजनौर में पुलिस कर्मियों पर गिरी गाज 17 पुलिसकर्मियों को एसपी ने किया सस्पेंड
29 जनवरी भारत बंद बहुजन क्रांति मोर्चा
Image
आज स्वामीप्रसाद प्रसाद मौर्य यूथ बिर्गेड के सरक्षक उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद ने अपनी मौर्य बिर्गेड के मेरठ जिला प्रभारी अनिल मौर्य के द्वारा मेरठ टीम के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की बिर्गेड द्वारा  किये गए सामाजिक कार्यो की समीक्षा की
Image
सूत्रों के मुताबिक - सिर्फ गाइडलाइन्स जारी की जाएंगी, पीएम का कोई संबोधन नहीं होगा गृह मंत्रालय की तरफ से गाइडलाइंस जारी की जा सकती है
ज्योतिरादित्य सिंधिया: मैं धन्यवाद अर्पित करना चाहूंगा नड्डा साहब को, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को, हमारे गृहमंत्री अमित शाह जी को कि उन्होंने मुझे अपने परिवार में आमंत्रित किया, एक स्थान दिया।
Image