निर्भया के दोषियों को एकसाथ दी जाएगी फांसी, तिहाड़ में नए तख्ते और सुरंग तैयार.....

निर्भया के दोषियों को एकसाथ दी जाएगी फांसी, तिहाड़ में नए तख्ते और सुरंग तैयार.....



*नई दिल्लीः* निर्भया के गुनहगारों के लिए फांसी के तख्ते तैयार कर लिए गए हैं। बताया जा रहा है कि चारों दोषियों को एकसाथ फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा। तिहाड़ जेल में पहले एक ही तख्ता था लेकिन अब इसकी संख्या बढ़कर चार हो गई है। पीडब्ल्यूडी ने इस काम को सोमवार को पूरा किया। फांसी के तीनों नए हैंगर भी उसी जेल नंबर-3 में तैयार किए गए हैं, जहां पहले से एक तख्त है। अब तिहाड़ देश की पहली ऐसा जेल हो जाएगी, जहां एक साथ चार तख्त फांसी के लिए तैयार हैं।


*तिहाड़ जेल के सूत्रों के मुताबिक*
 इस काम को पूरा करने के लिए जेल के अंदर जेसीबी मशीन भी लाई गई थी, क्योंकि तीन नए फांसी के तख्ते तैयार करने के लिए यह भी जरूरी होता है कि उनके नीचे एक टनल बनाई जाए। इसी टनल में से मृत कैदी को बाहर निकाला जाता है।


*फांसी पर अंतिम फैसला अभी बाकी*
जेल सूत्रों ने बताया कि निर्भया गैंगरेप के दोषियों को फांसी देने के लिए तैयारियां पूरी हैं। बस अब इस पर अंतिम फैसला आना बाकि है। जेल सूत्रों के मुताबिक कोर्ट खुलते ही तिहाड़ प्रशासन चारों आरोपियों के मामलों की स्टेटस रिपोर्ट वहां सौंपेगा। तमाम कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद फांसी पर अंतिम फैसला लिया जाएगा। बता दें कि पिछले दिनों निर्भया के दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग उठी थी। चारों दोषी फिलहाल तिहाड़ की जेल नंबर-2 और 4 में बंद हैं। तिहाड़ ने फांसी के 11 फंदे पहले ही तैयार करने के ऑर्डर दे दिए हैं।


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
प्राइवेट स्कूल में कक्षा 9 की छात्रा ने मनचलों से परेशान होकर फांसी लगा ली
Image
महाराष्ट्र कोरोना संकट के कुप्रबंधन का डरावना उदाहरण है। 2334 मरीज सामने आ चुके हैं। 160 की मौत हो गई। मुंबई भारत का सबसे डरावना शहर बन गया है। सामने आए 1757 संक्रमितों में 111 जान गंवा चुके हैं।
लखनऊ चौक इलाके में दिनदहाड़े गोली मार हत्याकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग! 24 घंटे में खुलासा होने का दावा काबीना मंत्री बृजेश पाठक और लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने मृतक के परिजनों और व्यापारी संगठन को दिया था आश्वासन! रुपये से भरा बैग छीनने के दौरान हत्या करने बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग ! 10 दिन बीत जाने के बाद भी लखनऊ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की हाईटेक क्राइम टीम के हाथ अब तक खाली..... 24 घंटे के अंदर बदमाशों को पकड़ने का जिम्मेवारों ने किया दावा हुआ फेल....... व्यापार संगठन एक दिन प्रदर्शन करने के बाद बैठा शांत,गुलदस्ता भेंट के बाद व्हाट्सएप ग्रुप पर अपडेट करने दौर हुआ शुरू बीते 20 फरवरी को चौक रकाबगंज इलाके में बाइक सवार चार बदमाशों ने दिया था रुपये से भरा बैग लूट के बाद हत्या को दिया था अंजाम.. जेल में बन्द बदमाशों को सीसीटीवी में दिखे बदमाशों की फ़ोटो से कराई गई पहचान, एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों से की जा चुकी हैं पूछताछ कमला पसंद एजेंसी में दिनदहाड़े बदमाशों का हमला कर लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने सुभाष नाम के कर्मचारी को मारी थी गोली, सरकार द्वारा पूरे मामले का संज्ञान लेने के बाद भी लखनऊ पुलिस के हाथ अब तक खाली.......!
सदर कैंट के पास ट्रेन से कटकर हुई युवक और युवती की मौत
Image