दबंगों से जमीन बचाने के लिए अधिकारियों के चौखट पर दौड़ता दौड़ता थक गया गरीब

दबंगों से जमीन बचाने के लिए अधिकारियों के चौखट पर दौड़ता दौड़ता थक गया गरीब


योगिराज में न्याय मिलना हुआ मुश्किल


उत्तरप्रदेश की योगीराज में भी गरीब कमजोर मजदूरों को न्याय मिलता नहीं दिख रहा है लड़ाई झंझट के मामले के साथ साथ आए दिन गरीबों की जमीन कब्जा करना दबंगों के लिए आम बात हो गई है न्याय देने के लिए बैठी योगी सरकार की पुलिस दबंगों के आगे गरीबों को न्याय नहीं दे पाती है जिसके चलते आम जनता का योगी सरकार के कानून व्यवस्था से विश्वास उठता दिख रहा है 



जिले की जनता रोज डीएम कमिश्नर एसपी और मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर गरीब कमजोर मजदूर न्याय की मांग कर रहे हैं लेकिन जांच के नाम पर केवल और केवल कागजों की आंकड़े बाजी खेल तक विभागीय अधिकारी रह गए हैं जिससे आम जनता गरीब कमजोर योगीराज में गेंहू के आटे की तरह पिस रहा है 


ऐसे तमाम मामलों में सहसवान तहसील क्षेत्र के पठान टोला कोतवाली सहसवान  अंतर्गत गांव के गरीब शमशाद अहमद का मकान पर  बबलू चौधरी पुत्र नूरमोहम्मद  ने कब्जा कर  लिया है इसी मामले का उदाहरण पर्याप्त है


 समशाद अहमद पुत्र सुर्गिय  कल्लन ने थाना में कई प्रार्थना पत्र दिया इस पर एसडीएम सहसवान  ने एसएचओ सहसवान को कार्रवाई का निर्देश भी दिया लेकिन कार्यवाही नहीं हो सकी इसके बाद  पीड़ित समशाद अहमद  
  ने मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल संख्या 40014 919027117पर शिकायत दर्ज करा कर मुख्यमंत्री से न्याय मांगा इस पर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया और जिलाधिकारी ने दिसंबर को अधीनस्थों को प्रकरण को निस्तारित करने का निर्देश दिया लेकिन 5 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक गरीब  को न्याय नहीं मिल सका आखिर अपनी भूमि धरी भूमि और संपत्ति बचाने के लिए गरीब कब तक आला अधिकारियों के चौखट पर न्याय के लिए गिड़गिड़ाते रहेंगे यह योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर बड़ा सवाल है और लचर कानून व्यवस्था पर योगी सरकार को गंभीरता दिखानी होगी जिससे आला अधिकारी के कार्य में तेजी आ सके और आम जनता गरीब को त्वरित न्याय मिल सके
पीड़ित का मोबाइल नंबर 8650196452


Popular posts
प्राइवेट स्कूल में कक्षा 9 की छात्रा ने मनचलों से परेशान होकर फांसी लगा ली
Image
कुसमुंडा थाना छेत्र अंतर्गत ग्राम अमगांव मे कु जया कंवर (रानू )पिता सुमरन सिंह कंवर ने  अज्ञात कारण के वजह से फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है
Image
PCS अफ़सर ऋतु सुहास की गवर्नर आनंदी बेन पटेल से मुलाक़ात. 
Image
महाराष्ट्र कोरोना संकट के कुप्रबंधन का डरावना उदाहरण है। 2334 मरीज सामने आ चुके हैं। 160 की मौत हो गई। मुंबई भारत का सबसे डरावना शहर बन गया है। सामने आए 1757 संक्रमितों में 111 जान गंवा चुके हैं।
सदर कैंट के पास ट्रेन से कटकर हुई युवक और युवती की मौत
Image