आज भी बंद हैं दिल्ली-नोएडा के ये रास्ते सीलमपुर-जाफराबाद हिंसा में छह लोग गिरफ्तार 

आज भी बंद हैं दिल्ली-नोएडा के ये रास्ते सीलमपुर-जाफराबाद हिंसा में छह लोग गिरफ्तार 


 



जामिया के बाद दिल्ली का उत्तर पूर्वी इलाका मंगलवार दोपहर को सुलग उठा। सीलमपुर और जाफराबाद इलाके में दोपहर को नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन के लिए एकत्रित हुई भीड़ उग्र हो गई और देखते ही देखते प्रदर्शन हिंसा में तब्दील हो गया। नकाबपोश प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की कलस्टर बस और दिल्ली पुलिस के वज्र वाहन की तोड़फोड़ की है। वहीं दो दर्जन से ज्यादा निजी वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस घटना में थाना सीलमपुर इलाके के एक पुलिस बूथ में भी आग लगा दी। हालांकि बुधवार को हालात सामान्य हो गए हैं और सभी मेट्रो स्टेशन खोल दिए गए हैं। वहीं दिल्ली से नोएडा आने जाने वाले कुछ रास्ते तीसरे दिन भी बंद हैं जिसके चलते यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दूसरी तरफ दिल्ली के शाही इमाम का भी बयान आया है। जानिए आज दिल्ली में होने वाली घटनाओं की सभी अपडेट्स…


*उत्तर-पूर्वी दिल्ली में धारा-144 लागू -*


दिल्ली पुलिस के संयुक्त कमिश्नर ने कहा है कि उत्तर-पूर्वी जिले में सीआरपीसी की धारा-144 लागू कर दी गई है। इसके तहत किसी भी सार्वजिनक स्थान पर चार से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते, कोई प्रदर्शन नहीं कर सकते।


दिल्ली के सीलमपुर इलाके में आज पुलिस ने पेट्रोलिंग कर जायजा लिया, जहां सबकुछ नियंत्रण में पाया गया।


*छह गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी -*


दिल्ली पुलिस ने सीलमपुर हिंसा मामले में छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही पुलिस कई जगहों पर छापेमारी कर उन लोगों की तलाश कर रही है जिनकी पहचान की जा चुकी है।
दो एफआईआर दर्ज


दिल्ली पुलिस ने जाफराबाद में हुई हिंसा के संबंध में आईपीसी की धाराओं के तहत दंगा भड़काने और पब्लिक संपत्ति बर्बाद करने के आरोप में दो एफआईआर दर्ज की हैं। अब तक पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है जिनके आपराधिक पृष्ठभूमि की जांच चल रही है। एक एफआईआर बृजपुरी में पत्थरबाजी के लिए भी की गई है।


*CAA से भारतीय मुस्लिमों का कुछ लेना-देना नहीं है- बुखारी*


सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के तहत मुस्लिम शरणार्थी जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भारत आएंगे उन्हें भारतीय नागरिकता नहीं मिलेगी। इसका उन मुसलमानों से कुछ लेना-देना नहीं है जो भारत में रह रहे हैं।


*CAA और NRC में है अंतर- बुखारी -*


शाही इमाम बुखारी ने ये भी कहा कि नागरिकता संशोधन कानून(CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण(NRC) में बहुत अंतर है। एक सीएए है जो कानून बन चुका है और दूसरा एनआरसी है जिसकी सिर्फ घोषणा हुई है और वह कानून नहीं बना है।


*शाही इमाम ने कहा विरोध करना लोकतांत्रिक अधिकार, लेकिन संयम से करें -*


दिल्ली में जामिया और सीलमपुर हिंसा के बाद शाही इमाम अहमद बुखारी सामने आए हैं और उन्होंने कहा कि विरोध-प्रदर्शन करना भारत के लोगों का लोकतांत्रिक अधिकार है, कोई ऐसा करने से हमें नहीं रोक सकता। हालांकि यह बहुत महत्वपूर्ण बात है कि यह प्रदर्शन नियंत्रण में किया जाए और हम अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें ये सबसे अहम हिस्सा है।


जामिया हिंसा के बाद पुलिस द्वारा फाइल की गई एफआईआर से पता चलता है कि पुलिस ने हिंसा रोकने और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए 75 आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया था। इसमें ये भी कहा गया है कि 7-8 बच्चे और कुछ उपद्रवी विश्वविद्यालय के अंदर से पत्थरबाजी भी कर रहे थे।
इसी एफआईआर में ये भी कहा गया है कि पुलिस कैंपस के अंदर एक सीमित फोर्स के साथ दाखिल हुई थी ताकि उपद्रवियों की पहचान हो सके और छात्रों की सुरक्षा की जा सके
सीलमपुर हिंसा में दो FIR दर्ज, छह गिरफ्तार, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में धारा-144 लागू


दिल्ली के सीलमपुर में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन हिंसक हो जाने के बाद मंगलवार को सात मेट्रो स्टेशनों पर आवाजाही बंद कर दी गई थी और ट्रेनें भी वहां नहीं रुक रही थीं। लेकिन बुधवार सुबह सभी मेट्रो स्टेशनों के हर गेट खोल दिए गए हैं और सेवाएं सामान्य हो गई हैं ।


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
प्राइवेट स्कूल में कक्षा 9 की छात्रा ने मनचलों से परेशान होकर फांसी लगा ली
Image
महाराष्ट्र कोरोना संकट के कुप्रबंधन का डरावना उदाहरण है। 2334 मरीज सामने आ चुके हैं। 160 की मौत हो गई। मुंबई भारत का सबसे डरावना शहर बन गया है। सामने आए 1757 संक्रमितों में 111 जान गंवा चुके हैं।
लखनऊ चौक इलाके में दिनदहाड़े गोली मार हत्याकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग! 24 घंटे में खुलासा होने का दावा काबीना मंत्री बृजेश पाठक और लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने मृतक के परिजनों और व्यापारी संगठन को दिया था आश्वासन! रुपये से भरा बैग छीनने के दौरान हत्या करने बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग ! 10 दिन बीत जाने के बाद भी लखनऊ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की हाईटेक क्राइम टीम के हाथ अब तक खाली..... 24 घंटे के अंदर बदमाशों को पकड़ने का जिम्मेवारों ने किया दावा हुआ फेल....... व्यापार संगठन एक दिन प्रदर्शन करने के बाद बैठा शांत,गुलदस्ता भेंट के बाद व्हाट्सएप ग्रुप पर अपडेट करने दौर हुआ शुरू बीते 20 फरवरी को चौक रकाबगंज इलाके में बाइक सवार चार बदमाशों ने दिया था रुपये से भरा बैग लूट के बाद हत्या को दिया था अंजाम.. जेल में बन्द बदमाशों को सीसीटीवी में दिखे बदमाशों की फ़ोटो से कराई गई पहचान, एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों से की जा चुकी हैं पूछताछ कमला पसंद एजेंसी में दिनदहाड़े बदमाशों का हमला कर लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने सुभाष नाम के कर्मचारी को मारी थी गोली, सरकार द्वारा पूरे मामले का संज्ञान लेने के बाद भी लखनऊ पुलिस के हाथ अब तक खाली.......!
सदर कैंट के पास ट्रेन से कटकर हुई युवक और युवती की मौत
Image