यू पी बोर्ड की कापियों क़ा मूल्यांकन नही करेंगे 80%शिक्षक

यू पी बोर्ड की कापियों क़ा मूल्यांकन नही करेंगे 80%शिक्षक


balrampur/आगामी 5 मई से शुरू हो रहे यू पी बोर्ड परीक्षा की कापियों क़े मूल्यांकन कार्य में प्रदेश क़े 80% शिक्षक असुरक्षा की दृष्टि से सहयोग नही करेंगे।
 बतादें की यू पी बोर्ड में वित्तविहीन शिक्षकों क़ा प्रतिशत 80 है जिससे मूल्यांकन कार्य काफी तेजी से हो सकता था  । 
उक्त आशय की जानकारी देते हुए वित्तविहीन शिक्षक संघ क़े  जिलाअध्यक्ष आर बी सिंह औऱ महामंत्री जय चन्द शुक्ला ने बताया कि वर्तमान विषम परिस्थितियों में सरकार क़ा सौतेला व्यवहार ऐसा करने को मजबूर कर रहा है । कोविड-19 से सुरक्षा क़े लिये सरकार दोहरा मानदंड अपना रही है । सरकारी शिक्षकों को अलग श्रेणी में रखते हुए    कार्य में लगे राजकीय शिक्षकों क़े कोरोना संक्रमित होने पर 25 से 50 लाख की क्षतिपूर्ति औऱ आर्थिक सहायता देने की बात कर रही है जबकि उसी कार्य को करने वाले अल्प वेतन भोगी वित्तविहीन शिक्षकों को किसी भी तरह की प्रतिपूर्ति ना दिये जाने से शिक्षक आहत भी हैँ औऱ नाराज भी ऐसी दशा में मूल्यांकन कार्य करना खतरों से भरा है । इसलिए वित्तविहीन महासभा मूल्यांकन कार्य में शामिल नही होगा ।


Popular posts
<no title>
Image
मेरठ डॉक्टर अमिताभ गौतम भी निकले संक्रमित दिल्ली मैक्स में रात को हुये भर्ती  मेरठ में लगातार बढ़ रहे है कोरोना पोजेटिव मरीजो की संख्या आज 26केस आने से प्रशासन में हड़कंप  कोरोना पोजेटिव की संख्या बढ़ कर हुई 312
जल्द दौड़ेगी दिल्ली मेट्रो 
Image
उत्तर प्रदेश मे आज 147 नये केस आये कुल संख्या बढ़ कर 3902 हुई, आज 107 लोग ठीक हुए कुल 2072 ठीक हुए, दो लोगो की मौत हुई अभी तक 88 लोग मर चुके है कोरोना से l
लॉकडाउन 4 -  फॉरकंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जोन में एक राज्य से दूसरे राज्यों में आपसी सहमति से बसें जा पाएंगी।  रेड और ऑरेंज जोन के अंदर कंटेनमेंट और बफर जोन बनाए जाएंगे।जिलाधिकारी तय कर सकेंगे।