प्राइवेट अस्पतालों पर दिल्ली सरकार सख्त!

प्राइवेट अस्पतालों पर दिल्ली सरकार सख्त!


दिल्ली सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों व क्लीनिक को चालू रख, उपचार जारी रखने के आदेश दिए हैं। कोरोना संकट के समय कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों के लिए, लोगों को न हो कोई परेशानी, इसके लिए सरकार ने ये आदेश जारी किए हैं।


प्राइवेट अस्पताल कोरोना संक्रमण का खतरा बता कर, अन्य मरीज़ों का इलाज करने में आनाकानी कर रहे थे, जिन्हें सख्ती बरतते हुए सरकार ने कहा कि, अगर मरीज का इलाज करने में आनाकानी की, तो उनका लाइसेंस भी रद्द हो सकता है।


दिल्ली सरकार ने सख्त रुख में कहा कि, कोरोना संकट में स्वास्थ्य सेवाएं सर्वोच्च प्राथमिकता है, ऐसे में यदि इलाज की कमी होगी तो सरकार इस करने वालों के खिलाफ कड़े कदम उठाएगी।


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
आगरा सेंट्रल जेल के बाद अब जिला कारागार की चारदीवारी में भी पहुंचा कोरोना संक्रमण। 
ठेका लेकर पास कराते थे सीटीईटी परीक्षा,
शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास का बयान हमारे पास कोई इत्तेला नही आयी और शहर में होर्डिंग्स लगाये जा रहे है