सरकार जब लोगों में भेदभाव करेंगी तो देश कोरोना महामारी से कैसे लड़ेगा : सागर तोमर

 


सरकार जब लोगों में भेदभाव करेंगी तो देश कोरोना महामारी से कैसे लड़ेगा : सागर तोमर
कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विवेक बंसल एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य सागर सिंह तोमर ने कहा है कि लोकडाउन में फंसे मजदूर जहाँ एक तरफ अपने घर जाने के लिए सरकार की प्रताड़ना झेल रहे है वहीं दूसरी तरफ सरकार अमीर तथा पैसे वालों को अपनी ही बसों मे बैठा कर उन्हें उनके घरों में भेज रही है। जब लोकडाउन के दौरान अमित शाह और विजय रूपाणी के आदेश से गुजरात के 1500 लोगों को उतराखंड सरकार की 28 लग्ज़री बसों द्वारा उन्हे गुजरात उनके घर पहुँचाया जा सकता है और योगी आदित्यनाथ अपने उत्तर प्रदेश के राजस्थान स्थित कोटा में प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे 8000 छात्रों को लाने के लिए 200 बसें भेज सकते है, तो ऐसे में यूपी और बिहार आदि राज्यों के उन मज़दूरों को जो दिल्ली, हरियाणा और अन्य राज्यों में फँसे हुए हैं उन्हें उनके घर क्यों नहीं पहुँचाया जा सकता। उनका गुनाह शायद यह है कि एक तो वह गरीब हैं और दूसरा उनकी सीधी राजनीतिक पहुँच सरकार तक नहीं है। जबकि यह वही गरीब मजदूर हैं जिनकी मेहनत के दम पर बडे-बडे अस्पताल, मॉल, मैट्रो रेल, गगनचुंबी इमारतें, फ्लाई ओवर इत्यादि बनकर देश की शोभा बढा रहे हैं। अब आप ही बताइये कि यह सरकारें अपने ही नागरिकों को उनकी अमीरी-ग़रीबी और जाति-धर्म को आधार बनाकर जब उनके साथ भेदभाव करेंगी तो 130 करोड का यह देश कैसे तरक़्क़ी करेगा और एकजुटता से कैसे इस महामारी से लड़ेगा


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
<no title>
Image
गिरफ्तार DSP से मेडल वापस लिया जाएगा, शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल वापस लिया जाएगा, आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुआ था देविंदर सिंह,
<no title>
Image