नोएडा में कोरोना के तीन नए पॉजिटिव केस में एक मूक-बधिर बच्ची भी, मरीजों की संख्या हुई 117 

नोएडा में कोरोना के तीन नए पॉजिटिव केस में एक मूक-बधिर बच्ची भी, मरीजों की संख्या हुई 117 


 


उत्तर प्रदश में गौतम बुद्ध नगर में जनपद रविवार तीन और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके साथ ही इस जनपद कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की संख्या 117 हो गई है।


जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने बताया कि रविवार को 92 लोगों की जांच रिपोर्ट आई हैं, जिससे 89 लोगों में संक्रमण नहीं होने और तीन के संक्रमित होने की बात सामने आयी।


उन्होंने बताया कि जनपद में अब कुल लोग 117 कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं जिनमें से 71 मरीज ठीक होकर अब तक घर जा चुके हैं एवं 44 मरीजों का उपचार यहां के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।


कोरोना पॉजिटिव मरीजों की आई कुल 92 रिपोर्टों में 3 पॉजिटिव पाए गए हैं. पॉजिटिव पाए गए लोगों में दो बच्चियां शामिल हैं।


इनमें एक एच्छर गांव की रहने वाली 9 साल की मूक बधिर बच्ची में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, बच्ची गलगोटिया हॉस्टल में बने क्वारंटाइन सेंटर में थी।


पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसे शारदा अस्पताल भेजा गया है, मूक बधिर बच्ची में कोरोना संक्रमण का जिले में यह पहला मामला बताया जा रहा है।


बच्ची के ताऊ व ताई भी कोरोना संक्रमित हैं. उनका इलाज पहले से ही शारदा अस्पताल में चल रहा है. बताया जाता है कि वो जमात के संपर्क में आने से संक्रमित हुए थे। 


सूचना अधिकारी ने बताया कि तीन नये मरीजों में एक 9 वर्षीय बच्ची एच्छर गांव ग्रेटर नॉएडा की है, 32 वर्षीय व्यक्ति ग्रेटर नोएडा के तिलपता गांव का है, तथा 10 वर्षीय बच्ची सेक्टर 8 नोएडा से है।


उन्होंने बताया कि अन्य जनपदों से आए दो मरीज भी कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनकी सूचना उनके गृह जनपद को दे दिया गया है।


उन्होंने बताया कि रविवार को नोएडा के विभिन्न अस्पतालों से ठीक होकर कोविड-19 के 12 मरीज घर पहुंचे. उनमें 8 मरीज ग्रेटर नोएडा के जिम्स अस्पताल से डिस्चार्ज हुए हैं। 


उन्होंने बताया कि जनपद में 21671 लोगों की विदेश यात्रा की पृष्ठभूमि है, सूचना अधिकारी ने बताया कि 3,053 लोगों का अब तक करोना संक्रमण के टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया है। 


उन्होंने बताया कि जनपद में अब कोरोना संक्रमण से सक्रिय मरीज 44 हैं।


सूचना अधिकारी ने बताया कि 570 संदिग्ध मरीज अभी विभिन्न जगहों पर पृथक वास में हैं।


उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए जनपद में 400 पृथक बिस्तर तैयार हैं।


उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली से नोएडा में प्रवेश पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।


जिला प्रशासन द्वारा जारी पास के आधार पर ही डॉक्टर, मीडिया कर्मी, व कोविड-19 के उपचार से जुड़े स्वास्थ्य कर्मी तथा आवश्यक वस्तुओं और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग दिल्ली से नोएडा आ पा रहे हैं। 


उन्होंने बताया कि जो भी व्यक्ति दिल्ली से नोएडा में आ रहा है, उसका थर्मल स्केनर मशीन की सहायता से तापमान देखा जा रहा है, तथा चेकिंग प्वाइंट पर खड़े डॉक्टर उसकी जांच कर रहे हैं, जांच में ठीक पाए जाने के बाद ही दिल्ली से नोएडा में प्रवेश दिया जा रहा है।


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
आगरा सेंट्रल जेल के बाद अब जिला कारागार की चारदीवारी में भी पहुंचा कोरोना संक्रमण। 
ठेका लेकर पास कराते थे सीटीईटी परीक्षा,
शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास का बयान हमारे पास कोई इत्तेला नही आयी और शहर में होर्डिंग्स लगाये जा रहे है