गहलोत ने मोदी से पूछा सवाल, देश की घुमक्कड़ जातियों का क्या होगा, जिन्हें जन्म तक नहीं पता

गहलोत ने मोदी से पूछा सवाल, देश की घुमक्कड़ जातियों का क्या होगा, जिन्हें जन्म तक नहीं पता


लोगों को फिर नोटबंदी की तरह लाइन में लगना होगा
। उन्हें सर्टिफिकेट के लिए रिश्वत देने को मजबूर होना पड़ेगा। 
सीएए से हिंदू समेत सभी जातियों को तकलीफ होगी।...
। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा नागरिकता कानून से देश में अराजकता बढ़ेगी। लोगों को लाइनों में खड़ा होना पड़ेगा और भ्रष्टाचार बढ़ेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछते हुए कहा कि नागरिकता कानून लागू होने पर घुमक्कड़ जातियों का क्या होगा? ये लोग माता-पिता के जन्म स्थान के बारे में भी नहीं बता पाते, जन्म तारीख क्या बता पाएंगे?


पड़ोसी राष्ट्रों के अल्पसंख्यकों के ख्याल की बात तो पंडित नेहरू ने भी उठाई थी- मुख्यमंत्री



उन्होंने कहा कि कांग्रेस को केवल बदनाम किया जा रहा है। कांग्रेस पड़ोसी राष्ट्रों के अल्पसंख्यकों को भारत में नागरिकता देने की खिलाफत नहीं कर रही। बल्कि यह बात तो सबसे पहले पंडित जवाहरलाल नेहरू ने ही उठाई थी। उन्होंने ही कहा था कि पड़ोसी राष्ट्रों के अल्पसंख्यकों का ख्याल रखा जाएगा। मुख्यमंत्री गहलोत रविवार दोपहर उदयपुर के डबोक स्थित महाराणा प्रताप हवाई अड्डे पर मीडिया से बात कर रहे थे।


देश की घुमक्कड़ जातियों का क्या होगा? उन्हें तो यह भी नहीं पता कि उनका जन्म कहां हुआ


मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि देश में नागरिकता कानून से आत्महत्या की घटनाएं बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार केवल ध्यान डायवर्ट करने के लिए इस तरह का कानून पर जोर दे रही है, जो अनुचित है। उन्होंने


प्रधानमंत्री मोदी से पूछा कि यह कानून लागू हो जाएगा तो देश की घुमक्कड़ जातियों का क्या होगा? उनके माता-पिता के प्रमाण पत्र कहां से मांगेंगे। उन्हें तो यह भी नहीं पता कि उनका जन्म कहां हुआ।


गहलोत ने सीएए को हिंदू और मुस्लिमों के ध्रुवीकरण की चाल बताया


मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की आर्थिक स्थिति पूरी तरह चौपट है। बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है। महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। डीजल-पेट्रोल के दाम जो पहले थे, वे अब भी हैं। मुख्यमंत्री ने नागरिकता बिल को पूरे मुल्क में हिंदू  और मुस्लिमों के ध्रुवीकरण की चाल बताया। नागरिकता बिल लागू करना था तो पहले विपक्षी पार्टियों से बात करनी चाहिए थी।


सीएए से हिंदू ही नहीं, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी को तकलीफ होगी


गहलोत ने कहा कि भाजपा द्वारा जनता को गुमराह किया जा रहा है कि कांग्रेस इस बिल का विरोध कर रही है।


जबकि ऐसा नहीं, हमारा मानना है कि सीएए से हिंदू ही नहीं, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी को तकलीफ होगी।


नोटबंदी की तरह लाइन में लगना पड़ेगा, सर्टिफिकेट के लिए रिश्वत देनी पड़ेगी


लोगों को एक बार फिर नोटबंदी की तरह लाइन में लगना होगा। उन्हें सर्टिफिकेट के लिए रिश्वत देने को मजबूर होना पड़ेगा। पत्रकारों से बातचीत के बाद गहलोत मुंबई के लिए रवाना हो गए


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
<no title>
Image
गिरफ्तार DSP से मेडल वापस लिया जाएगा, शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल वापस लिया जाएगा, आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुआ था देविंदर सिंह,
<no title>
Image