प्रदर्शन करने वाले कांग्रेसियों पर मुकदमा, 20 से 25 कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR 

प्रदर्शन करने वाले कांग्रेसियों पर मुकदमा, 20 से 25 कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR 



उन्‍नाव दुष्‍कर्म पीड़िता की मौत के बाद बीजेपी मुख्यालय के सामने प्रदर्शन करने वाले कांग्रेस पार्टी और अनुषांगिक संगठनों के 20 से 25 कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। चौकी प्रभारी दारुलशफा दारोगा कृष्णकांत सिंह की तहरीर पर हजरतगंज कोतवाली में विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज हुई है। बता दें, उन्‍नाव दुष्‍कर्म पीड़िता की मौत के बाद शनिवार को राजनीति उफान पर रही। सपा सु्प्रीमो अखिलेश यादव के साथ नरेश उत्‍तम से लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध जताया था। इसी कड़ी कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं और अनुषांगिक संगठनों ने बीजेपी मुख्यालय के सामने प्रदर्शन किया था। दारोगा के मुताबिक, शनिवार को वह विधान भवन के पास ड्यूटी कर रहे थे। इसी बीच जीपीओ और कैपिटल तिराहे की तरफ से प्रदर्शनकारी बीजेपी मुख्यालय के सामने नारेबाजी करते हुए आ गए। आरोप है कि कांग्रेस पार्टी और अनुषांगिक संगठनों के 20 से 25 कार्यकर्ताओं ने दोनों तरफ सड़क पर बैठकर जाम लगा दिया। प्रदर्शनकारी नारेबाजी करने लगे। उच्चाधिकारियों ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो सभी हंगामा करते हुए विधान भवन की तरफ बढऩे लगे। पुलिस की तरफ से रोकने पर आरोपित धक्का-मुक्की करने लगे। विरोध पर हाथापाई शुरू कर दी। कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को पकड़कर बस में बिठाया और उन्हें ईको गार्डन भेज दिया था। आरोप है कि प्रदर्शनकारियों की हाथापाई में पुलिसकर्मियों को चोट आई है। यही नहीं जाम के कारण एंबुलेंस और स्कूल वैन भी फंसे रहे। दारोगा की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, सड़क जाम लगाने व अभद्रता करने समेत विभिन्न धाराओं में एफआइआर दर्ज कर पुलिस आरोपितों की शिनाख्त का प्रयास कर रही है।उन्नाव दुष्कर्म पीडि़ता की मौत से शनिवार को सियासी हंगामा मचा रहा। सरकार पर हमलावर विपक्षी दल सड़क पर उतर आए। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव विधान भवन गेट नंबर एक के सामने प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम और मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी के साथ धरने पर बैठ गए। उधर, पहली बार बसपा प्रमुख मायावती राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने राजभवन पहुंच गईं। कांग्रेस ने भी सक्रियता दिखाई। पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा पीडि़त परिवार से मिलने उन्नाव पहुंचीं। इधर, कार्यकर्ताओं ने भाजपा दफ्तर पर धावा बोला, जीपीओ पर करीब चार घंटे प्रदर्शन किया। पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ा।


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
NNew positive 7 Total positive 334 Details soon
गिरफ्तार DSP से मेडल वापस लिया जाएगा, शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल वापस लिया जाएगा, आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुआ था देविंदर सिंह,
फिर पलटेगा मौसम, बारिश , ओलावृष्टि की संभावनाएं चेतन ठठेरा
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image