महिलाओं के साथ लगातार हो रहे उत्पीड़न से भी  नही जागी लखनऊ पुलिस।

लखनऊ


महिलाओं के साथ लगातार हो रहे उत्पीड़न से भी  नही जागी लखनऊ पुलिस।


बख्शी तालाब थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर ने की महिला से अभद्रता।


एसएससी लखनऊ कलानिधि नैथानी के लाख दावे को दरकिनार कर रहे हैं सब इंस्पेक्टर पवन कुमार मिश्रा।
पूरा मामला थाना बख्शी का तालाब अंतर्गत का है।
देवीरुखरा की रहने वाली एक महिला को एक लड़का 2016 से परेशान कर रहा है।



पहला मुकदमा उस लड़के के खिलाफ 2016 में थाना बक्शी तालाब में लिखा गया था। लेकिन पुलिस ने पूरे मामले को गंभीरता से नहीं लिया और पीड़ित लगातार थाने के चक्कर लगाती रही। पर महिला को न्याय नहीं मिला।


धीरे-धीरे समय बीतता गया और 2019 में लड़के ने घर में घुसकर लड़की के साथ अभद्रता की मारपीट की और कपड़े भी फाडे लड़की ने एक बार फिर थाना बख्शी का तालाब में न्याय की गुहार लगाई और 354,392,452 जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत हुआ पर कार्रवाई नहीं हुई पीड़ित लड़की का हौसला धीरे-धीरे टूटता गया ।
लड़के के ऊपर जब गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत हो गया तब लड़के ने लड़की को जबरदस्ती ले जाकर आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। लड़की भी कार्रवाई ना होने से और पुलिस की बेरुखी से टूट चुकी थी लड़की ने भी लड़के के आगे झुकना मुनासिब समझा और शादी करके उसके घर चली गई ।
बख्शी का तालाब थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर पवन कुमार मिश्रा ने घोर संवेदनहीनता दिखाई और सारे मुकदमे सुलह करा दिए ।
एक हफ्ता भी नहीं बीता कि लड़के ने जैसे देखा कि मुकदमें में सुलह हो गयी है अब कोई दिक्कत नहीं है ।
लड़की के साथ मारपीट और प्रताड़ित  करने लगा उसके पास कई अन्य लड़कों को भी भेजने लगा जिससे दुखी होकर एक बार फिर लड़की ने बख्शी का तालाब थाने में तहरीर दी महिला आयोग में तहरीर दी लेकिन पवन कुमार मिश्रा ने थाने पहुंची महिला के साथ अभद्रता की ।
दलित महिला के साथ थाने में अभद्रता की यार यार शब्दों का प्रयोग किया।
महिला का आरोप है कि सब इंस्पेक्टर पवन कुमार मिश्रा ने जबरदस्ती मुकदमे सुलह करवाने का दबाव बनाया और कुछ पैसे ले देकर रफा-दफा करने की भी बात कही इससे पहले भी पवन कुमार मिश्रा 12 सो रुपए वसूली लेते कैमरे में कैद हो चुके हैं अब देखने वाली बात यह होगी कि पूरे मामले में एसएसपी लखनऊ किस तरह से संज्ञान लेते हैं पवन कुमार मिश्रा जैसे पुलिस वालों के ऊपर कार्रवाई होगी या नही।


महिला सशक्तिकरण के दावे करने वाली लखनऊ पुलिस ने थाने पहुंची महिला के साथ की अभद्रता।


Popular posts
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
NNew positive 7 Total positive 334 Details soon
गिरफ्तार DSP से मेडल वापस लिया जाएगा, शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल वापस लिया जाएगा, आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुआ था देविंदर सिंह,
फिर पलटेगा मौसम, बारिश , ओलावृष्टि की संभावनाएं चेतन ठठेरा
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image