उद्धव ठाकरे 17 सितंबर को बन सकते हैं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, एनसीपी व कांग्रेंस से मिला ग्रीन सिग्नल

उद्धव ठाकरे 17 सितंबर को बन सकते हैं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, एनसीपी व कांग्रेंस से मिला ग्रीन सिग्नल



महाराष्ट्र में शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस की सरकार बनेगी। इस सरकार को कांग्रेस बाहर से समर्थन (बैक सपोर्ट) देगी। शिवसेना विधायक आदित्य ठाकरे और शिवसेना के विधायक दल के नेता एकनाथ शिंद ने मिलकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को 161 विधायकों के समर्थन की चिट्ठी सौंपी।


इनमें से शिवसेना के 56, राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी) के 54 और कांग्रेस के 44 विधायक हैं। महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 145 है, जबकि इन तीनों दलों को मिलाकर यह आंकड़ा 154 तक पहुंचता है। इसके अलावा इन्हें सात निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन प्राप्त है। आदित्य जब सरकार बनाने का दावा पेश कर रहे थे उस दौरान उनके साथ निर्दलीय विधायक बछु कडू समेत तीन और विधायक मौजूद रहे।


राजभवन पहुंचकर शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को 161 विधायकों को समर्थन पत्र सौंपा। सूत्रों का कहना है कि 17 नवंबर को नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है। यह दिन शिवसेना संस्थापक बाला साहेब ठाकरे की पुण्यतिथि है।


शपथ ग्रहण समारोह शिवाजी पार्क में हो सकता है। सूत्र बताते हैं कि उद्धव ठाकरे खुद मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे खुद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन सकते हैं। एनसीपी और कांग्रेस के साथ हुई डील में तय हुआ है कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार को उप मुख्यमंत्री का पद मिल सकता है और जयंत पाटिल को गृहमंत्री का पद दिया जा सकता है।


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
अरविंद केजरीवाल की ताजपोशी लगातार तीसरी बार संभाली दिल्ली की कमान
राष्ट्रपति कोविंद के बेटे और बेटी क्या करते हैं, क्या आप जानते हैं?