फिरोज खान के समर्थन में आये बीएचयू छात्रों का दूसरा गुट, निकाला विरोध मार्च

फिरोज खान के समर्थन में आये बीएचयू छात्रों का दूसरा गुट, निकाला विरोध मार्च


वाराणसी:* काशी हिंदू विश्वविद्यालय में डॉक्टर फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर छात्रों में दो फाड़ हो गया है। एक तरफ जहां संस्कृत धर्म विज्ञान संकाय के छात्रों के धरने का आज 13वां दिन था तो वही दूसरी ओर एनएसयूआई और आइसा के छात्रों ने फिरोज खान के समर्थन में बीएचयू के सिंहद्वार पर प्रदर्शन किया।


छात्रों ने निकाला विरोध मार्च


इस दौरान छात्रों ने हाथों में तख्ती लेकर फिरोज खान के समर्थन में नारे लगाए । छात्रों ने मनुवाद और ब्राह्मणवाद के नारे भी लगाए। छात्रों का कहना है कि कुछ ब्राह्मणवादी सोच वाले छात्र उनके विरोध में बैठे हैं। यह महामना के मूल्यों के खिलाफ है। जिस तरह से छात्र फिरोज खान का विरोध कर रहे हैं, वह बीएचयू की प्रातिष्ठा को ठेस पहुंचाने वाला है।


छात्रों और विश्वविद्यालय के बीच वार्ता फेल


दूसरी ओर धरने पर बैठे छात्रों और विश्वविद्यालय प्राशासन के बीच वार्ता विफल हो गई। छात्र अपनी मांगों पर अड़े हैं। छात्रों के मुताबिक प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति के विरोध को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। हमारा विरोध किसी मजहब के खिलाफ नहीं है बल्कि संस्कृत और सभ्यता की रक्षा को लेकर है। चाहे तो विश्वविद्यालय प्रशासन फिरोज खान की नियुक्ति संस्कृत धर्म विज्ञान संकाय की जगह संस्कृत विभाग में कर दे।


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
अरविंद केजरीवाल की ताजपोशी लगातार तीसरी बार संभाली दिल्ली की कमान
राष्ट्रपति कोविंद के बेटे और बेटी क्या करते हैं, क्या आप जानते हैं?