पीएमसी बैंक घोटाले के बाद को-ऑपरेटिव बैंकों को लेकर सरकार लेगी बड़ा फैसला

पीएमसी बैंक घोटाले के बाद को-ऑपरेटिव बैंकों को लेकर सरकार लेगी बड़ा फैसला



केन्द्र सरकार अब को-ऑपरेटिव बैंकों को रेग्युलेट करने के लिए कदम उठाने जा रही है। इस बारे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को जानकारी दी।
दरअसल, हाल ही में सामने आए पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक संकट के बाद सरकार ऐसा कदम उठाने जा रही है। बता दें कि पीएमसी बैंक ग्राहक अब 50,000 रुपये तक ​निकासी कर सकते हैं।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक,* सरकार एक ऐसे ड्राफ्ट पर काम रही है, जिसके बाद ये बैंक भारतीय रिजर्व बैंक के अंतर्गत पूरी तरह से आ जाएंगे। इसके लिए बैंकिंग रेग्युलेशन एक्ट में संशोधन करने के लिए सरकार ड्राफ्ट तैयार कर रही है।_
इसमें आरबीआई* इन बैंकों के प्रबंधन के ऊपर रहेगा। संभव है कि सरकार आरबीआई को इन बैंकों में नियुक्ती से लेकर कॉरपोरेट गवर्नेन्स स्ट्रक्चर में बदलाव का भी अधिकार दे दे। हालांकि, यह उन्हीं बैंकों के लिए होगा जो अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक एक कॉमर्शियल बैंक की तरह काम करना चाहते हैं।


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
अरविंद केजरीवाल की ताजपोशी लगातार तीसरी बार संभाली दिल्ली की कमान
राष्ट्रपति कोविंद के बेटे और बेटी क्या करते हैं, क्या आप जानते हैं?