छठ महापर्व पर बांकीमोंगरा में रही धूम,सुमेधा नदी घाट किनारे उमड़ी भीड़,उगते सूर्य को अर्घ्य देकर किया छठी मैय्या को याद

छठ महापर्व पर बांकीमोंगरा में रही धूम,सुमेधा नदी घाट किनारे उमड़ी भीड़,उगते सूर्य को अर्घ्य देकर किया छठी मैय्या को याद


*कोरबा(बांकीमोंगरा):-* छठ महापर्व के अवसर पर सुमेधा नदी के किनारे घाट पर श्रद्धालुओं की भारी भीड उमड़ पड़ी जहाँ व्रती महिलाओं ने अपने परिवार के साथ मिलकर पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना करते हुए और उगते सूर्य को जल चढ़ाकर छठी मइया को याद कर अपनी मन्नते मांगते हुए घर में सुख शांति की कामना की।सैकड़ो की संख्या में व्रती गाजे-बाजे के साथ ठेकुवा एवं सभी प्रकार के फल अमरुद,सेव,संतरा,केला,नारियल,नीबू,सिंघाड़ा,गाजर,अदरक,शकरकंद,मूंगफली,आदि चीजों से संजोएं टोकरी सूप को सिर पर लिए छठी मइया अरज सुन ले हमार-धवद से ऊपर सुगवा मंडराए जैसे गीतों के साथ सुमेधा नदी किनारे छठ घाट पर पहुँची एवं निर्धारित समय में अस्तांचल भगवान् सूर्य को मंत्रोच्चार के बीच अर्ध्य अर्पित किया गया तथा रविवार को सुबह 4 बजे से छठ घाट पर भीड़ लग गया।जहाँ सुबह 6:30 बजे उगते सूर्य को अर्ध्य देकर दीप दान किया गया।अर्ध्य वेद् के अनुसार पष्ठी देवी भगवान् सूर्य की मानस बहन है।प्रकृति के छठे अंश से छठ माता उत्पन्न हुई थी।छठी मैया छठ पूजा को देखते हुए बांकीमोंगरा समिति के सक्रीय सदस्य अनुज पाठक,राजिव शर्मा,विकास झा,चंदन शर्मा,शशि पंडित,वीर बहादुर केसरी,आनंद विश्वकर्मा,सतीश तिवारी,आयुष चौधरी द्वारा नदी के किनारे छठ घाट पर अपनी और से टेंट,लाइट,चाय-नास्ता की व्यवस्था की गई थी।वहीं पुलिस की और से भी यहां चाक-चौबंद व्यवस्ता रही ताकि किसी प्रकार की कोई घटना घटित ना हो और आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी ना होने पाए।इस प्रकार सैकड़ों की संख्या में व्रती महिलाओं द्वारा अपने परिवार के साथ मिलकर छठ पर्व धूमधाम से मनाते हुए परिवार के सुख समृद्धि की कामना की गई।


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
फिर पलटेगा मौसम, बारिश , ओलावृष्टि की संभावनाएं चेतन ठठेरा
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
कोरोना संक्रमित की बढ़ती संख्या को देखते हुये निजी अस्पतालों में भी मरीजो का इलाज होगा 17 ऐसे निजी अस्पतालों के चयन कर लिया गया है
अरविंद केजरीवाल की ताजपोशी लगातार तीसरी बार संभाली दिल्ली की कमान