CBSE की परीक्षाएं 15 फरवरी से प्रस्तावित, 20 दिनों के भीतर परिणाम जारी करने का लक्ष्य

CBSE की परीक्षाएं 15 फरवरी से प्रस्तावित, 20 दिनों के भीतर परिणाम जारी करने का लक्ष्य

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 15 फरवरी 2020 में प्रस्तावित हैं। 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाएं 30 मार्च तक चलेंगी। वहीं दूसरी ओर प्रैक्टिकल की परीक्षाएं 16 जनवरी से 15 फरवरी तक संचालित होंगी। सीबीएसई ने इस वर्ष प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए भी सेंटर बनाने का निर्णय लिया है ताकि परीक्षक व बच्चों की सांठगांठ पर लगाम लगाया जा सके। सीबीएसई ने परीक्षाओं के साथ-साथ उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन भी कराने का निर्णय लिया है। ताकि परीक्षा होने के बीस दिनों के भीतर ही परीक्षा परिणाम जारी किया जा सके। ऐसे में इस वर्ष परीक्षार्थियों को रिजल्ट के लिए अधिक इंतजार नहीं करना होगा। गत सत्र सीबीएसई ने परीक्षा के महज 28 दिनों के भीतर रिजल्ट जारी किया थी। पिछले सत्र में इंटरमीडिएट का परीक्षा परिणाम दो मई को और हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम छह मई को जारी हुआ था। इस वर्ष परीक्षा समाप्त होने के महज 20 दिनों के भीतर रिजल्ट जारी करने का लक्ष्य रखा गया है।दरअसल विश्वविद्यालय व महाविद्यालयों में दाखिले की प्रक्रिया मार्च-अप्रैल से ही शुरू हो जाती है। वहीं रिजल्ट मई-जून में जारी होता है। रिजल्ट के अभाव में तमाम छात्र दुविधा में रहते हैं। तमाम बच्चे माक्र्स के आधार पर वह वह विभिन्न कोर्सों दाखिले की राह तय करते हैं। इसे देखते हुए सीबीएसई से इस वर्ष अप्रैल के अंत तक रिजल्ट जारी करने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं इस वर्ष जनपद में हाईस्कूल व इंटर में करीब तीस हजार परीक्षार्थी शामिल होने की संभावना है।  'प्रैक्टिकल 16 जनवरी से 15 फरवरी तक होने की संभावना है। वहीं हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं इस वर्ष भी 15 फरवरी से प्रस्तावित है। हालांकि सीबीएसई की ओर से अभी कोई स्पष्ट गाइड लाइन नहीं जारी किया गया है



 


Popular posts
लोहिया नगर मेरठ स्थित सत्य साईं कुष्ठ आश्रम पर श्री महेन्द्र भुरंडा जी एवं उनके पुत्र श्री देवेन्द्र भुरंडा जी ने बेसहारा और बीमार कुष्ठ रोगियों के लिए राशन वितरित किया।  
Image
AAG विनोद शाही ने CM योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर पद सृजन समेत तमाम मामलों पर किया विचार विमर्श...
Image
राजस्थान के जयपुर में 28 फरवरी, सन् 1928 को दीनाभाना जी का जन्म हुआ था। बहुत ही कम लोग जानते हैं कि वाल्मीकि जाति (अनुसूचित) से संबंधित इसी व्यक्ति की वजह से बामसेफ और बाद में बहुजन समाज पार्टी का निर्माण हुआ था।
अरविंद केजरीवाल की ताजपोशी लगातार तीसरी बार संभाली दिल्ली की कमान
राष्ट्रपति कोविंद के बेटे और बेटी क्या करते हैं, क्या आप जानते हैं?