अब होमगार्ड के जवानों की ड्यूटी लगाने व वेतन निकालने में भी घोटाला

उत्तर प्रदेश


 


अब होमगार्ड के जवानों की ड्यूटी लगाने व वेतन निकालने में भी घोटाला


पावर कारपोरेशन (UPPCL) में भविष्य निधि घोटाले के बाद अब यूपी होमगार्ड के जवानों की फर्जी ड्यूटी दिखाकर वेतन हड़पने का बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। अभी गौतमबुद्घनगर में दो महीने की जांच में इस घोटाले का राजफाश हुआ है। इस घोटाले की जांच के लिए शासन ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर उससे 10 दिन में रिपोर्ट मांगी है। यह कमेटी जांच के लिए नोएडा पहुंच गई है।होमगार्ड विभाग के प्रमुख सचिव अनिल कुमार का कहना है कि अभी एक जिले में इस तरह की गड़बड़ी की सूचना मिली है। हो सकता है कि अन्य जिलों में भी इस तरह के मामले हों, जरूरत पड़ने पर अन्य जिलों की भी जांच कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि डीजी होमगार्ड के सीनियर स्टाफ अफसर सुनील कुमार, मीरजापुर के वरिष्ठ जिला कमांडेंट शैलेंद्र प्रताप सिंह और बागपत की जिला कमांडेंट नीता भारती को जांच के लिए नोएडा भेजा गया है।एसएसपी नोएडा वैभव कृष्ण ने बताया कि होमगार्ड विभाग के एक प्लाटून कमांडर ने इसकी शिकायत की थी, कि होमगार्ड जवानों को ड्यूटी लगाने के साथ वेतन निकालने में धोखाधड़ी की गई है। इसके बाद मामले की जांच के निर्देश दिए थे। जिले स्तर पर सैंपल के लिए सात थानों में दो माह (मई और जून) के दौरान लगाई गई होमगार्डों की ड्यूटी की जांच कराई गई। इसमें करीब आठ लाख रुपये का घपला सामने आया। रिपोर्ट राज्य सरकार को भेजी गई थी। ती सदस्यीय जांच समिति बनाई गई है। जांच के निष्कर्षों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।