550 प्रकाश उत्सव पर पूरे विश्व को हार्दिक बधाई ।गुरु

550 प्रकाश उत्सव पर पूरे विश्व को हार्दिक बधाई ।गुरु नानक देव जी के जयंती पर मनाने वाला पर्व प्रकार उत्सव मनाना अपने आप मे गौरव का विषय है,आज सिख धर्म के पहले गुरु गुरुनानक देव जी की बात हो रही हैं तो मैं आप लोगों से अपने हिर्दय में बसा सिख धर्म के बारे मे बताना चाहता हूँ। दरशल सिख धर्म ही नही है ,वह तो एक पंथ हैं ।पंथ वह होता हैं जो एक गुरु या एक व्यवस्था की परम्परा 
का निर्वाह करते हो ,सिखो का असली धर्म सनातन धर्म ही है ।आज सिख है तो सनातन धर्म हैं,