20 नवंबर को मनाया जाता था बाल दिवस

20 नवंबर को मनाया जाता था बाल दिवस


साल 1925 से बाल दिवस मनाया जाने जाता था. जिसे 1953 में दुनिया भर में इसे मान्यता मिली. संयुक्त राष्ट्र संघ ने 20 नवबंर को बाल दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की, लेकिन यह अन्य देशों में अलग-अलग दिन मनाया जाता है. भारत में भी पहले यह 20 नवंबर को ही मनाया जाता था, लेकिन 1964 में प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के निधन (27 मई 1964) के बाद सर्वसहमति से ये फैसला लिया गया कि जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के तौर पर माना जाएगा. पंडित नेहरू ने भारत की आजादी के बाद बच्चों की शिक्षा, प्रगति और कल्याण के लिए बहुत काम किया था.


आपको बता दें, इस दिन अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस का उद्देश्य दुनिया भर में बच्चों की अच्छी परवरिश को बढ़ावा देना, बच्चों के अधिकार, देखभाल और शिक्षा के बारे में लोगों को जागरुक करना है. स्कूलों और कॉलेजो में छात्रों के लिए खास तौर पर इसी दिन  तरह-तरह की मजेदार गतिविधियां, फैंसी ड्रेस कम्पटीशन और रोमाचंक खेलों का आयोजन किया जाता है. बाल दिवस बच्चों को समर्पित भारत का एक राष्ट्रीय त्योहार है. बता दें कि कई देश बाल संरक्षण दिवस (1 जून) पर बाल दिवस के रूप में मनाते हैं.